Home » राज्य » अपनी लेटलतीफी के लिए मशहूर भारतीय रेल को तेज तर्रार बनाने का सपना रेल मंत्री सुरेश प्रभु देख रहे हैं

अपनी लेटलतीफी के लिए मशहूर भारतीय रेल को तेज तर्रार बनाने का सपना रेल मंत्री सुरेश प्रभु देख रहे हैं

👤 chinu dhingra | Updated on:2017-03-01 09:02:07.0

अपनी लेटलतीफी के लिए मशहूर भारतीय रेल को तेज तर्रार बनाने का सपना रेल मंत्री सुरेश प्रभु देख रहे हैं

Share Post

अपनी लेटलतीफी के लिए मशहूर भारतीय रेल को तेज तर्रार बनाने का सपना रेल मंत्री सुरेश प्रभु देख रहे हैं और इस सपने को पंख लगाने का काम हाइपरलूप वन नाम की एक कंपनी कर रही है. हाइपरलूप वन कंपनी ने राजधानी दिल्ली में रेलवे के अधिकारियों और मीडिया के लिए हाइपरलूप रूट्स के बारे में एक सम्मेलन बुलाया.

इस सम्मेलन में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने नई तकनीक में भरोसा जताते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि हाइपरलूप कंपनी लास एंजल्स में हो रहे अपने प्रयोगों में सफलता के झंडे गाड़ेगी. लेकिन इस तकनीक के बारे में बहुत ज्यादा हाईपर होने की जरूरत नहीं है. भारतीय रेलवे तमाम ऐसे रास्तों पर विचार कर रही है जिससे उसकी ट्रेनों की रफ्तार तेजी से बढ़ सके.

हाइपरलूप कंपनी के द्वारा पेश किया गया कांसेप्ट आकर्षक है और ऐसी किसी भी तकनीक में भारतीय रेलवे पार्टनरशिप करना चाहती है. हाइपरलूप के सम्मेलन में नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने भी अपनी बात रखी उन्होंने कहा की बढ़ती हुई आबादी के मद्देनजर भारत को रेलवे के मामले में नई टेक्नोलॉजी की तरफ रुख करना पड़ेगा.

हाइपरलूप एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसमें बड़े-बड़े पाइपों के अंदर की हवा को पूरे तरीके से निकालकर उसमें तेज रफ्तार से ट्रेन चलाई जाएगी. खास बात यह है कि इस पाइप के अंदर ट्रेन लेवीटेशन टेक्नोलॉजी से बढ़ाई जाएगी. लेविटेशन टेक्नोलॉजी के तहत ट्रेन को बड़े-बड़े इलेक्ट्रिक चुंबकों के ऊपर से चलाया जाता है इसमें चुंबकीय शक्ति के प्रभाव से ट्रेन ऊपर उठ जाती है और फिर यह बड़ी तेजी से ट्रैक के ऊपर उठकर चलती है.

Like Us
Share it
Top