Home » खेलकूद » सोम ने रवि को टांगा रैकेट

सोम ने रवि को टांगा रैकेट

👤 A2ZNews Channel | Updated on:2017-01-02 08:38:14.0

सोम ने रवि को टांगा रैकेट

Share Post

देश के पूर्व नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सोमदेव देववर्मन ने आखिरकार चोटों से आजिज आकर अपना रैकेट टांग ही दिया। नए साल के पहले ही दिन सोमदेव ने पेशेवर टेनिस से संन्यास लेने की घोषणा कर सभी को चौंका दिया। सोमदेव ने अपने ट्विटर पेज पर यह घोषणा की

इस 31 वर्षीय खिलाड़ी का करियर 2012 में कंधे में बार-बार वापसी करने वाली चोट से थम गया। वह वापसी करने के लिए चोट से उबर गए थे, लेकिन पिछले कुछ समय से बिना किसी विशेष कारण के टेनिस से दूर रहे। ऐसी भी अटकलें हैं कि वह अब कोचिंग की जिम्मेदारी ले सकते हैं।

सोमदेव ने जब 2008 में टेनिस में पदार्पण किया था, तब से वह भारत के स्टार सिंगल्स खिलाड़ी थे।

भारत की डेविस कप टीम के नियमित सदस्य सोमदेव 14 मुकाबलों में खेल चुके हैं और 2010 में भारत को विश्व ग्रुप में पहुंचाने में उन्होंने अहम भूमिका अदा की थी।

सोमदेव दो एटीपी टूर-2009 चेन्नई ओपन में बतौर वाइल्डकार्ड और 2011 दक्षिण अफ्रीका ओपन के फाइनल में पहुंचे थे। वहीं, ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन यूएस ओपन (2011) के तीसरे दौर में पहुंचना रहा। इसी साल वह विंबलडन के दूसरे में, जबकि फ्रेंच ओपन के पहले दौर में ही हार गए।

"2017 की शुरुआत नए तरीके के से पेशेवर टेनिस से संन्यास लेकर कर रहा हूं। सभी का इतने वर्षों तक मेरा समर्थन करने और इतना प्यार देने के लिए शुक्रिया।"

--सोमदेव देववर्मन

-2010 दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स और चीन के ग्वांग्झू में हुए एशियन गेम्स में सिंगल्स में स्वर्ण पदक जीते।

-एशियन गेम्स की डबल्स स्पर्धा में स्वर्ण और टीम स्पर्धा में कांस्य पदक जीता

-2008 में NCAA पुरुष टेनिस चैंपियनशिप में बनाया गया उनका जीत-हार का 44-1 रिकॉर्ड अभी तक कायम है।

-2011 में देश के दूसरे सर्वोच्च खेल सम्मान अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित।


Like Us
Share it
Top