Home » खेलकूद » वॉन को उम्मीद, रूट बनाए जाएंगे इंग्लैंड के अगले टेस्ट कप्तान

वॉन को उम्मीद, रूट बनाए जाएंगे इंग्लैंड के अगले टेस्ट कप्तान

👤 A2ZNews Channel | Updated on:2016-11-16 11:26:05.0

वॉन को उम्मीद, रूट बनाए जाएंगे इंग्लैंड के अगले टेस्ट कप्तान

Share Post

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन को लगता है कि वर्तमान कप्तान एलिस्टेयर कुक समय रहते पद छोड़ेंगे ताकि जो रूट को अगले वर्ष की एशेज सीरीज से कमान संभालने का अनुभव मिल सकेगा।

कुक ने पिछले कुछ समय से कप्तानी छोड़ने को लेकर विरोधाभासी बयान दिए है। उन्होंने कहा था कि वे दो महीनों में भी पद छोड़़ सकते हैं या सालभर में भी। इंग्लैंड की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट मैचों में नेतृत्व संभालने का रिकॉर्ड बनाने के बाद कुक ने पिछले सप्ताह राजकोट में कहा कि वे इस मामले में सीरीज दर सीरीज समाप्ति के बाद निर्णय लेंगे।

इसके बावजूद माइकल वॉन और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग को लगता है कि यदि कुक अगले वर्ष एशेज सीरीज तक नेतृत्व संभालने को तैयार नहीं होंगे तो वे कुछ समय बाद पद छोड़ देंगे। उनके मार्गदर्शन में युवा जो रूट को तैयार होने का मौका मिल जाएगा। कप्तानी के दायित्व से मुक्त होकर कुक भी अपनी बल्लेबाजी पर ज्यादा ध्यान दे पाएंगे।

वॉन ने कहा, कुक के सामने पिछली सात सीरीज से लगातार यह सवाल आ रहा है लेकिन वे इसे टाल रहे हैं। मैं ऐसे कई कप्तानों के साथ खेला हूं जो टीम में रहते हुए दूसरे किसी के नेतृत्व में खेलने को तैयार नहीं हो पाते। लेकिन मैं सोचता हूं कि कुक कुछ समय तक टीम में बने रहकर नए कप्तान रूट का मार्गदर्शन कर सकते हैं। रूट नए कप्तान के प्रबल दावेदार हैं और कुक के मार्गदर्शन में वे काफी कुछ सीख सकते हैं। 2012 में एंड्रयू स्ट्रॉस से कप्तानी संभालने के बाद से कुक रिकॉर्ड 55 टेस्ट मैचों में टीम की कमान संभाल चुके हैं।

77 टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रह चुके पोंटिंग का मानना है कि राष्ट्रीय टीम की कप्तानी संभालना मतलब हर सीरीज के दौरान खुद को नए अंदाज में पेश करना होता है। इंग्लैंड जैसी टीम जिसमें कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी है, उसकी कमान संभालना तो बहुत चुनौतीपूर्ण है। इसी के चलते कुक के खेल का स्तर ऊंचा बना हुआ है। लेकिन अगले वर्ष होने वाली एशेज सीरीज से जितना पहले रूट को कप्तानी संभालने का मौका मिलेगा, उतना ही यह टीम और उनके लिए अच्छा होगा। अन्य सीरीज की तुलना में एशेज में दबाव 5 से 10 गुना ज्यादा होता है, इसलिए रूट को इसका पहले ही अभ्यास हो जाए तो यह ठीक रहेगा।


Like Us
Share it
Top