Home » अंतर्राष्ट्रीय » जबरन धर्म बदलवाना इस्लाम के खिलाफ: नवाज शरीफ

जबरन धर्म बदलवाना इस्लाम के खिलाफ: नवाज शरीफ

👤 Admin5 User | Updated on:2017-03-15 09:18:17.0

जबरन धर्म बदलवाना इस्लाम के खिलाफ: नवाज शरीफ

Share Post

पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ ने कहा है कि जबरन किसी का मजहब बदलवाना और दूसरों के धार्मिक स्थलों पर हमले इस्लाम में गुनाह है। शरीफ यहां एक होली समारोह में बोल रहे थे। इस मौके पर उन्होंने हिंदुओं को रंगों के इस त्योहार की बधाई भी दी।

पाकिस्तान को धरती की जन्नत बनाएं
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, शरीफ मंगलवार को कराची में एक होली समारोह में बोल रहे थे।
– इस दौरान उन्हाेंने कहा कि कौन स्वर्ग में जाएगा और नर्क में यह तय करना किसी का काम नहीं है। इसके बजाय पाकिस्तान को धरती की जन्नत बनाएं।
– पाकिस्तान में रह रही माइनॉरिटी कम्युनिटी को दिए मैसेज में शरीफ ने कहा, "कोई भी किसी को किसी खास मजहब को अपनाने के लिए मजबूर नहीं कर सकता। इस्लाम में मजहब, जाति और सम्प्रदाय से हटकर हर शख्स को तरजीह दी गई है।"
– "मैं यह साफतौर पर कहता हूं कि जबरन किसी का मजहब बदलवाना इस्लाम में गुनाह है। हमारा फर्ज है कि पाकिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यकों (माइनॉरिटी) के धार्मिक स्थलों की हिफाजत करें।
– इस होली समाराेह में माइनॉरिटी कम्युनिटी के कई मेंबर्स और सांसद शामिल हुए।
आतंकियों और तरक्कीपसंद लोगों के बीच जंग
– समारोह में शरीफ ने कहा, "पाकिस्तान में मजहब को लेकर कोई लड़ाई नहीं है। अगर है तो वह आतंकियों, मजहब के नाम पर लोगों को गुमराह करने वालों, बेगुनाहों को मारने वालों और देश की तरक्की न चाहने वालों के खिलाफ है।"
– शरीफ ने माना कि पाकिस्तान में कुछ लोगों ने मजहब के नाम पर लोगों को बांटने की कोशिश जरूर की है, लेकिन यहां हर शख्स को अपना मजहब मानने की छूट है।
– उन्होंने कहा कि मैं ऐसा पाकिस्तान चाहता हूं जहां सभी मजहब के लोगों के लिए समान मौके हों और वो खुद को और अपने परिवार को एक अच्छी जिंदगी दे सकें।

Like Us
Share it
Top