Home » धर्म समाचार » विष्‍णु के विविध मंत्र जिनका जाप कर धन-वैभव एवं संपन्नता में वृद्धि की जा सकती है

विष्‍णु के विविध मंत्र जिनका जाप कर धन-वैभव एवं संपन्नता में वृद्धि की जा सकती है

👤 A2ZNews Channel | Updated on:2016-12-29 10:28:34.0

विष्‍णु के विविध मंत्र जिनका जाप कर धन-वैभव एवं संपन्नता में वृद्धि की जा सकती है

Share Post

श्रीहरि विष्णु के इन मंत्रों का जाप संपन्नता बढ़ाएगा। इन मंत्रों का जाप करने से शीघ्र प्रसन्न होते हैं श्रीहरि। गुरुवार के दिन भगवान विष्णु का स्मरण कर 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय' मंत्र का जाप करना फलदायी रहता है। शास्त्रों के अनुसार भगवान विष्णु जगत का पालन करने वाले देवता हैं। उनका स्वरूप शांत और आनंदमयी है। श्रीहरि विष्णु के विविध मंत्र हैं जिनका जाप कर धन-वैभव एवं संपन्नता में वृद्धि की जा सकती है। जगत के पालनकर्ता और त्रिदेवो में से एक भगवान श्री हरि विष्णु को प्रसन्न करने के लिए कुछ मंत्र बताये जा रहे है |

श्री विष्णु मूल मन्त्र

ॐ नमोः नारायणाय. ॐ नमोः भगवते वासुदेवाय ||

लक्ष्मी विनायक मंत्र

दन्ताभये चक्र दरो दधानं, कराग्रगस्वर्णघटं त्रिनेत्रम्।

धृताब्जया लिंगितमब्धिपुत्रया, लक्ष्मी गणेशं कनकाभमीडे।।


विष्णु के पंचरूप मंत्र

ॐ अं वासुदेवाय नम:

ॐ आं संकर्षणाय नम:

ॐ अं प्रद्युम्नाय नम:

ॐ अ: अनिरुद्धाय नम:

ॐ नारायणाय नम:

ॐ ह्रीं कार्तविर्यार्जुनो नाम राजा बाहु सहस्त्रवान।

यस्य स्मरेण मात्रेण ह्रतं नष्टं च लभ्यते।।

सरल जाप

ॐ नमो नारायण। श्री मन नारायण नारायण हरि हरि।।

धन-वैभव एवं संपन्नता पाने का विशेष मंत्र

ॐ भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि।

ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।।

शीघ्र फलदायी मंत्र

- श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे।

हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

- ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि।

तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

- ॐ विष्णवे नम:

Like Us
Share it
Top