Home » धर्म समाचार » पांडवों के भाई नकुल का रघुकुल कनेक्शन

पांडवों के भाई नकुल का रघुकुल कनेक्शन

👤 A2ZNews Channel | Updated on:2017-01-18 09:22:53.0

पांडवों के भाई नकुल का रघुकुल कनेक्शन

Share Post

नकुल पांडवों के भाई थे। नकुल के एक जुड़वां भाई और थे जिनका नाम था सहदेव। उनकी माता का नाम माद्री था। नकुल और सहदेव का जन्म दैवीय चिकित्सकों अश्विन के वरदान स्वरूप हुआ था।

महाभारत में उल्लेखित है, नकुल एक योग्य पशु शल्य चिकित्सक थे, जिन्हें घोड़ों की चिकित्सा में महारथ प्राप्त थी। अज्ञातवास में नकुल भेष बदल कर महाराज विराट की राजधानी उपलव्य की घुड़शाला में शाही घोड़ों की देखभाल करने वाले सेवक के रूप में रहे थे।

मद्रदेश के राजा शल्य नकुल-सहदेव के सगे मामा थे। शल्य श्रीराम के रघु कुल से थे। शल्य कौरवों की ओर से लड़े थे। माद्री, शल्य की बहन थीं। यानी नकुल का संबंध रघुकुल से भी था।

कहते हैं नकुल चंद्रवंशी कुल के होकर रघुकुल के थे। और उनका द्रौपदी से विवाह हुआ था।

द्रौपदी से उनके शतानीक नाम का एक पुत्र भी हुए। इसके अलावा उनकी एक और पत्नी थी जिसका नाम करेणुमती था जिससे उनको निरमित्र नाम के पुत्र की प्राप्ति हुई। करेणुमती चेदिराज की राजकुमारी थीं।

Like Us
Share it
Top